रोजगार पंजीयन कार्यालय में सैकड़ों की संख्या में केवल गुरुर ब्लॉक के युवाओं की भीड़ लग गई। भीड़ इतनी बढ़ गई कि जिला रोजगार पंजीयन अधिकारी को पुलिस तक बुलानी पड़ गई, तब जाकर भीड़ व्यवस्थित हुई।

employment exchange berojgari bhatta balod madhya pradesh

employment exchange berojgari bhatta balod madhya pradesh

चुनाव में कांग्रेस के घोषणा पत्र के बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आ गई। अब घोषणा पत्र के अनुसार बेरोजगारी भत्ता देने के लिए प्रक्रिया शुरू कराई जा रही है। इसके तहत गुरुर ब्लॉक के प्रत्येक गंावों में मुनादी करा दी गई है कि जिनको बेरोजगारी भत्ता चाहिए वे पूरे दस्तावेज के साथ ग्राम पंचायतों में जमा करा दें इसके लिए रोजगार पंजीयन अनिवार्य है। इसके बाद कलक्टोरेट स्थित रोजगार पंजीयन कार्यालय में सैकड़ों की संख्या में केवल गुरुर ब्लॉक के युवाओं की भीड़ लग गई। भीड़ इतनी बढ़ गई कि जिला रोजगार पंजीयन अधिकारी को पुलिस तक बुलानी पड़ गई, तब जाकर भीड़ व्यवस्थित हुई।

रोजगार कार्यालय में नहीं आया कोई आदेश
इधर जानकारी यह भी मिली कि जिला रोजगार कार्यालय को किसी भी प्रकार से बेरोजगारी भत्ता संबंधित आदेश नहीं मिला है। न ही कलेक्टोरेट व गुरुर जनपद से कोई पत्र आया है, पर किस आधार पर गांवों में मुनादी कराई गई है। इसका जवाब किसी जिम्मेदारों के पास नहीं मिल पाया।

दुधमुंहे बच्चे को लेकर पहुंची महिलाएं
गुरुर ब्लॉक के ग्राम छेडिय़ा निवासी डिगेश्वर कुमार साहू ने बताया कि चार दिन पहले ही रात में कोटवार ने मुनादी कर यह जानकारी दी कि बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन ग्राम पंचायत में जमा कर सकते हैं। कहा गया कि बारहवीं पास वाले पंचायत में मार्कशीट जमा कराएं। रोजगार पंजीयन, जाति, निवास, मार्कशीट साथ ले जाएं। इसके लिए रोजगार पंजीयन अनिवार्य है। बताया कि इस कारण पंजीयन कराने रोजगार कार्यालय आए हैं। ग्राम अकलवरा के पुणेश्वरी व ग्राम तर्री की राजेश्वरी भी अपने दुधमुंहे बच्चों को लेकर पंजीयन कराने पहुंची थी।

कर्मचारी कम पड़े, तो दूसरे विभाग से बुलवाना पड़ा
जिला रोजगार पंजीयन कार्यालय में बेरोजगारों की भीड़ को देख विभाग के कर्मचारियों के हाथ-पांव ही फूल गए। बाकी सामान्य दिनों की तरह वे सुबह काम शुरू किए, फिर धीरे-धीरे भीड़ बढ़ती गई। लाइन में सैकड़ों की संख्या में भीड़ बढ़ती गई। उसके बाद धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

स्थिति देख विभाग के सभी स्टाफ सोच में पड़ गए। इतनी भीड़ का पंजीयन करने के लिए दूसरे विभागों से कर्मचारियों को बुलाना पड़ा। रोजगार पंजीयन कार्यालय में कर्मचारियों की कमी है, तो श्रम, समाज कल्याण व महिला बाल विकास विभाग के कर्मचारियों से सेवा लेनी पड़ी।

जिले में हैं 1.47 लाख पंजीकृत बेरोजगार
जिला रोजगार अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में कुल 1 लाख, 47 हजार, 7 सौ, 42 बेरोजगार पंजीकृत हैं। अब तक विभाग ने कुल 32 प्लेसमेंट कैंप आयोजित कर चुके हैं। जिसमें से 1176 युवाओं को रोजगार दिलाया जा सका है।

जिला रोजगार कार्यालय में सिर्फ गुरुर ब्लॉक के ही लोग ज्यादा आ रहे हैं। वे सिर्फ बेरोजगारी भत्ते का लाभ लेने के लिए पंजीयन कराने पहुंच रहे हैं, पर अभी तक इस मामले पर विभाग में आदेश आया ही नहीं है। हालांकि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की थी, लेकिन इन दिनों जिला रोजगार पंजीयन कार्यालय में भीड़ ने अधिकारियों के होश उड़ा दिए हंै। यहां रोजाना 400 से अधिक लोगों का पंजीयन किया जा रहा है।

बेरोजगारी भत्ते के लिए पंजीयन जरूरी

Leave a Reply